Sai Sai Om Sai

ShradhaSaburi_308x30

श्रद्धा और सबुरी में बहुत गहरा सम्बन्ध है !
यह दोनों ही हमे मालिक के करीब लाती है,मालिक को प्राप्त करने का यह मुख्य साधन है !

श्रद्धा का अर्थ

श्रद्धा का अर्थ है विश्वास कि (ईश्वर मे आस्था)अगर दिल में सच्ची श्रद्धा होती है तो  देर से ही सही  मालिक ज़रुर सुनता है,यह नही कि अपना काम पूरा करने के लिए मन में श्रद्धा जगाई और अगर काम पूरा नही हुआ तोह श्रद्धा खत्म कर दी ,यह श्रद्धा नही है श्रद्धा तो वह होती है जिसमे कोई इच्छा करे बगैर सचे मन से  ईश्वर की भक्ति हो , विपरीत परिस्थी में भी आस्था में कमी न आए ,अच्छा और बुरा जो होता है यह तो कर्मो का फल है,अगर मन में सच्ची श्रद्धा होगी तोह मालिक जरुर सुनेगा ,एक बार उसने हाथ थाम लिया तोह यह सुख व दुःख कुछ मायने नही रखता उसकी कृपा एक बारी मिल गयी तो सारे काम बगेर सोचे पूरे हो जायेंगे !

View original post 77 more words